khatu shyam janamdin 2022 || Khatu Shyam Happy birthday Date And Details || khatu shyam ji birthday 2022

Khatu Shyam Birthday Date - Baba Shyam Janmotsav 2022



बाबा श्याम का जन्मोत्सव 4th November शुक्रवार को मनाया जाएगा। अपने ईष्ट का जन्मदिन मनाने और दो दिवसीय मासिक मेले में शामिल होने के लिए लाखों श्रद्धालु खाटू पहुंच रहे हैं। जन्मोत्सव पर भक्त अनेक प्रकार के केक का भोग लगाकर बाबा श्याम को जन्मदिन की बधाई देंगे। इस दिन कस्बे की सभी धर्मशालाएं श्याम भक्तों से आबाद रहेंगी। कई श्याम भक्त पैदल चलकर तो कोई पेट पलायन आकर बाबा के दरबार में शीश झुकाएगा। इस अवसर बाबा श्याम का मंदिर आकर्षक ढंग से सजाया गया है। उल्लेखनीय है कि बाबा श्याम के सबसे बड़े फाल्गुनी लक्खी मेले के बाद यह दूसरा बड़ा मेला है।



पहले होंगे बाल गोपाल के दर्शन

श्याम जन्मोत्सव पर इस बार बाबा श्याम मंदिर के सिंह द्वार पर लड्डू गोपाल और मुरलीधर कन्हैया की झांकी सजाई गई है। श्रद्धालुओं को श्याम दर्शन से पहले मंदिर प्रवेश पर इनके दर्शन होंगे। मुख्य कारीगर अजीत ने बताया कि तीस कुशल बंगाली कारिगरों ने पूरे मंदिर को बांस की खपच्ची पर सुनहरी कपड़ा लगाकर उसपे बांसुरी, माखन से भरी कुलरी का खिलौना, पाइपनुमा फोम पर रंग बिरंगे कपड़ा लगाकर कई प्रकार की आकृतियों से सजाया है।



इत्र से होगा श्याम का स्नान

श्री श्याम मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मोहनदास ने बताया कि बाबा श्याम को रूह के इत्र से स्नान करवाकर गुलाब, चंपा,चमेली सहित अनेक प्रकार के फूलों के बने गजरों से बाबा श्याम को सजाया जाएगा।



गोद भरने के लिए चढ़ाते खिलौने

श्याम जन्मोत्सव पर कई ऐसे भी श्रद्धालु दरबार में आते हैं, जिनकी गोद सूनी होती है। जो बाबा को बांसुरी व खिलौने एवं मोरछड़ी चढ़ाकर गोद भरने के लिए मनौति मांगते हैं। कई नारियल बांधकर अपने परिवार की सुख स्मृद्धि की कामना करते हैं।



धर्मशालाएं और होटलें फुल

खाटूधाम में सैकड़ों धर्मशालाएं, होटल और गेस्ट हाउस हैं, जो देश विदेश से आए लाखों श्याम भक्तों से दशमी की शाम को ही फुल हो जाती हैं। सभी धर्मशालाएं और होटलें तकरीबन दो माह पूर्व ही बुक हो चुकी हैं। इनमें प्रमुख धर्मशालाएं श्री श्याम मित्र मण्डल कोलकाता, पंचायती विश्राम गृह, न्यू हैदराबाद धर्मशाला, श्रीधाम धर्मशाला, होटल श्याम, होटल कविता, होटल श्याम सरकार, कान्हा गेस्ट हाउस व श्री श्याम साक्षी गेस्ट हाउस आदि हैं।

बिकने के लिए दुकानों पर सजे केक

श्री श्याम जन्मोत्सव पर खाटूधाम के सभी प्रसाद एवं मिठाइयों की दुकानों पर अनेक डिजाइनों के केक बिकने के लिए सजे हुए है। श्रद्धालु इन्हें खरीदकर बाबा के दरबार में इसका भोग लगाते है। तो कुछ श्रद्धालु अपने शहरों से केक लेकर भी आते है। लगभग 70 क्विंटल से भी अधिक का केक बाबा की नगरी खाटूधाम में इस विशेष पर्व पर श्याम भक्तों द्वारा काटा जाता है।



जोत जलाकर करेंगे श्याम कीर्तन

एकादशी की रात्रि को श्री श्याम मंदिर प्रांगण सहित अनेक धर्मशालाओं में श्रद्धालु श्याम बाबा की जोत जलाकर एवं केक काटकर बाबा का जन्मदिन मनाएंगे। इन धर्मशालाओं में रात भर भजन कीर्तन का आयोजन चलेगा, जिसमें लखबीर सिंह लक्खा, नंदूजी महाराज, उमा लहरी, मुकेश बागड़ा, अमानत अली सहित अनेक प्रसिद्ध गायक बाबा श्याम के सुमधुर भजनों की प्रस्तुतियां देंगे।

21108 दीप जलाएंगे

श्री श्याम जन्मोत्सव के उपलक्ष में श्री श्याम दीपोत्सव समिति की ओर से पुलिस थाना रोड स्थित चौखानी धर्मशाला में 10वां श्री श्याम दीप ज्योति महोत्सव मनाया जाएगा, जिसमें श्याम भक्तों द्वारा 21108 दीप जलाए जाएंगे।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

श्याम दर्शनार्थ आने वाले श्याम भक्तों की सुरक्षा के लिए मंदिर कमेटी के मंत्री प्रताप सिंह चौहान ने बताया कि मेले पर अतिरिक्त सुरक्षा गार्डों की व्यवस्था कर रखी है। पुलिस प्रशासन की ओर से अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। थाना प्रभारी भीम सिंह ने बताया कि थाने में 20 का स्टाफ है। इसके अलावा सीकर से 50 अतिरिक्त पुलिस जाब्ता मंगवाया है। सादा वर्दी में मंदिर में पुलिस के जवान तैनात रहेंगे।



खाटूश्याम मन्दिर की सजावाट-

श्री श्याम मंदिर कमेटी श्याम जन्मोत्सव पर मंदिर को सजाने के लिये वृंदावन में बांके बिहारी के मंदिर में होने वाले फूल और वृंदावन से विशेष कारीगर बुलाये जाते हैं। वृंदावन से आये बांके बिहारी डेकोरेटर्स मंदिर को सजाने के लिये गेंदा, गुलाब, कूंद, बेला, लीली, गुलदावरी सहित इंग्लिश फूल ओरकेट, जरवरा, एंथेनियम, कारनेशम के फूलों से मंदिर को सजाते है। इसके अलावा श्याम जन्मोत्सव पर बाबा श्याम मंदिर के सिंह द्वार पर लड्डू गोपाल और मुरलीधर कन्हैया की झांकी भी सजायी जाती है। श्रद्धालुओं को श्याम दर्शन से पहले मंदिर प्रवेश पर इनके दर्शन होंगे। मुख्य कारीगर ने तीस कुशल बंगाली कारिगरों ने पूरे मंदिर को बांस की खपच्ची पर सुनहरी कपड़ा लगाकर उसपे बांसुरी, माखन से भरी कुलरी का खिलौना, पाइपनुमा फोम पर रंग बिरंगे कपड़ा लगाकर कई प्रकार की आकृतियों से सजाया है।





खाटूश्याम की धर्मशालायें व होटल-

देश विदेश से आये लाखो श्याम भक्तों से दशमी की शाम को ही धर्मशालायें और होटलें फुल हो जाती है। वैसे तो खाटूधाम में कई धर्मशालायें और होटलें हैं। उसके बावजूद भी ये जन्मोत्सव के उत्सव पर फुल हो जाती हैं। सभी धर्मशालायें और होटलें तकरीबन दो माह पहले ही बुक हो चुकी हैं। इनमें प्रमुख धर्मशालायें श्री श्याम मित्र मण्डल कोलकाता, पंचायती विश्राम गृह, न्यू हैदराबाद धर्मशाला, श्रीधाम धर्मशाला, होटल श्याम, होटल कविता, होटल श्याम सरकार, कान्हा गेस्ट हाउस व श्री श्याम साक्षी गेस्ट हाउस आदि हैं।

प्रसिद्ध गायक एवं कलाकार-

श्याम कीर्तन एकादशी की रात्रि को श्री श्याम मंदिर प्रांगण सहित अनेक धर्मशालाओं में श्रद्धालु श्याम बाबा की जोत जलाकर एवं केक काटकर बाबा का जन्मदिन बनाते हैं। इन धर्मशालाओं में रातभर भजन कीर्तन का आयोजन चलता है। जिसमें लखबीर सिंह लक्खा, नंदूजी महाराज, उमा लहरी, मुकेश बागड़ा, अमानत अली सहित अनेक प्रसिद्ध गायक बाबा श्याम के सुमधुर भजनों की प्रस्तुतियां देते हैं।



देवउठनी को ही क्यों मनाया जाता है जन्मदिन- 

बर्बरीक (खाटू श्याम) के महान बलिदान से काफी प्रसन्न होकर श्री कृष्ण ने बर्बरीक को वरदान दिया कि कलियुग में तुम श्याम नाम से जाने जाओगे। वरदान देने के बाद उनका शीश खाटू नगर (वर्तमान राजस्थान राज्य के सीकर जिला) में दफ़नाया गया इसलिये उन्हें खाटू श्याम बाबा कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि एक गाय उस स्थान पर आकर प्रतिदिन अपने स्तनों से दुग्ध की धारा स्वतः ही बहा रही थी। बाद में जब उस स्थान की खुदाई हुई तो वहां पर शीश प्रकट हुआ, जिसे कुछ दिनों के लिये एक ब्राह्मण को सौंप दिया गया है। एक बार खाटू नगर के राजा को स्वप्न में मन्दिर निर्माण के लिये और वह शीश मन्दिर में सुशोभित करने के लिये प्रेरित किया गया। तो उस स्थान पर मन्दिर का निर्माण किया गया और कार्तिक माह की एकादशी को शीश मन्दिर में सुशोभित किया गया। इसीलिये हमेशा देवउठनी एकादशी को ही श्री खाटूश्याम जी का जन्मदिन मनाया जाता है।

मेरे खाटू वाले का जन्मदिन आया है - Mere Khatu Wale Ka Janamdin Aaya Hai - Rajani Rajasthani Ji



Note :- वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव नीचे कॉमेंट बॉक्स में लिखें व इस ज्ञानवर्धक ख़जाने को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें।

कोई टिप्पणी नहीं

एक टिप्पणी भेजें

  1. happy birtday khatu shayam ji. Hare ke share ki jay

    ReplyDelete
  2. Happiest birthday ever 🎂🥳 u r d best🌺😍

    ReplyDelete
  3. Shyam shyam to mai rattu ❣️❣️❣️shyam hi jivan paraan,❣️❣️shyam bhakat jag me badhe unko karuu parnaam,❣️🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏jai shree shyam ji❣️jai shree bala ji🙏❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️❣️

    ReplyDelete
  4. जय श्री श्याम जी

    ReplyDelete
  5. jai shree shyam baba ki

    ReplyDelete
  6. Jai Shree Shyam Baba Ki

    ReplyDelete
  7. Jai Shree Shyam baba Ji ki Jai ho

    ReplyDelete