स्वर्ण पर्वताकार शरीरा श्री हनुमान कहावे ( Swarna Parvatakar Sarira Shri Hanuman Kahave Lyrics )

स्वर्ण पर्वताकार शरीरा श्री हनुमान कहावे



स्वर्ण पर्वताकार शरीरा श्री हनुमान कहावे,
सालासर के स्वर्ण कलश पर लाल ध्वजा लहराये....

सालासर मे सोना बरसे जब चाहें अजमाल,
इस पारस पत्थर को छुलो जिवन सफल बनालो,
स्वर्ण अवसर मिल गया कही ये अवसर निकल ना जाये,
सालासर के.....

सवामणी का धणी देव ये करता काम सवाया,
सवामणी ने ना जाने कितनों का भाग्य जगाया,
सवामणी का भोग चुरमा सरजिवन बन जाये,
सालासर के........

केशरीनंदन के चरणों से रंग केशरी पालो,
पवन कुंड के हवन कुंड की भस्मी अंग रमालो,
इस भस्मी से मिट्टी की काया कंचन हो जाये,
सालासर के.........

भक्त शिरोमणी मोहनदास जी स्वर्ण मे अलख जगाया,
सालासर दरबार सजीला स्वर्ण छत्र की छाया,
भक्तीभाव की गुणमाला राजेन्द्र आज चढ़ाये,
सालासर के.........



श्रेणी : हनुमान भजन



स्वर्ण पर्वताकार शरीरा- सालासर बालाजी भजन- svarn parvata Kar-Navratan pareek yogesh Chaturvedi

स्वर्ण पर्वताकार शरीरा श्री हनुमान कहावे ( Swarna Parvatakar Sarira Shri Hanuman Kahave Lyrics ), Hanuman Bhajan, by YT Krishna Bhakti Ke Bhajan


Bhajan Tags: swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave bhajan,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave hindi bhajan,morning bhajan,newest bhajan,kahani,story,trending wale bhajan,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave trending bhajan,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave hindi lyrics,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave in hindi lyrics,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave hindi me bhajan,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave likhe hue bhajan,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave lyrics in hindi,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave hindi lyrics,swarna parvatakar sarira shri hanuman kahave lyrics.


Note :- वेबसाइट को और बेहतर बनाने हेतु अपने कीमती सुझाव नीचे कॉमेंट बॉक्स में लिखें व इस ज्ञानवर्धक ख़जाने को अपनें मित्रों के साथ अवश्य शेयर करें।

Leave a comment

आपको भजन कैसा लगा हमे कॉमेंट करे। और आप अपने भजनों को हम तक भी भेज सकते है। 🚩 जय श्री राम 🚩

Previous Post Next Post
×