फागुन का महीना मेरे रुकते नहीं है पांव लिरिक्स Fagun Ka Mahina Mere Rukte Nahi Hai Paav Lyrics

फागुन का महीना मेरे रुकते नहीं है पांव



फागुन का महीना मेरे रुकते नहीं है पांव,
चला रे चला रे मैं चला रे अपने सांवरिया के गांव......

श्रद्धा से जाऊंगा मैं करु ना दिखावा,
आया देखो आया मेरे बाबा का बुलावा,
खाटू की वो गलियां पीपल की ठंडी छांव,
फागुन का महीना.............

रह रह के दिल मेरा श्याम श्याम बोले,
नैया भी खाने लगी अब हिचकोले,
आन संभालो बाबा हेै टूटी फूटी नांव,
फागुन का महीना.............

आंखों के आंसुओं से चरण धूलाऊंगा,
दिल की ये बातें अपने शाम को सुनाऊंगा,
सागर कहे तेरी महिमा फैली है चारों दिशाओ,
फागुन का महीना.............



श्रेणी : खाटू श्याम भजन


Fagun Ka Mahina By Sagar Prince| फागुन का महीना (सागर प्रिंस)| Khatu Shyam Bhajan.

फागुन का महीना मेरे रुकते नहीं है पांव लिरिक्स Fagun Ka Mahina Mere Rukte Nahi Hai Paav Lyrics, Khatu Shyam Bhajan, by Singer: Sagar Prince Ji


Bhajan Tags: fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav bhajan,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav hindi bhajan,morning bhajan,newest bhajan,sawan special bhajan,sawan ke bhajan,shivratri bhajan,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav hindi lyrics,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav in hindi lyrics,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav hindi me bhajan,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav likhe hue bhajan,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav lyrics in hindi,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav hindi lyrics,fagun ka mahina mere rukte nahi hai paav lyrics.

Leave a comment

आपको भजन कैसा लगा हमे कॉमेंट करे। और आप अपने भजनों को हम तक भी भेज सकते है। 🚩 जय श्री राम 🚩

Previous Post Next Post
×